Jila Chhindwara GK Important Fact – MP District Wise GK Hindi

Jila Chhindwara GKMP District Wise GK fact in Hindi

Jila Chhindwara GK Important GK Fact Hindi

  • जबलपुर संभाग के अंतर्गत 8 जिले आते है Jabalpur (जबलपुर) क्षेत्रफल और जनसँख्या की दृष्टि से सबसे बड़ा संभाग है|
  1. जबलपुर (District Jabalpur)
  2. कटनी (District Katni)
  3. नरसिंहपुर (District Narsinghpur)
  4. छिंदवाड़ा (District Chhindwara)
  5. बालाघाट (District Balaghat)
  6. मंडला (District Mandla)
  7. सिवनी (District Seoni)
  8. डिण्डोरी (District Dindori)
  • जबलपुर संभाग के अंतर्गत आने वाला छिन्‍दवाडा आदिवासी संस्‍कृति एवं भोगौलिक स्थिति के कारण अलग पहचान बनाता है| Chhindwara District क्षेत्रफल की दृष्टि से सबसे बडा जिला है| जिसका क्षेत्रफल 11815 वर्ग किलो मीटर है|
  • छिन्‍दवाडा नगर का नामकरण छिंद मतलब “खजूर” के वृक्ष के कारण पड़ा था| एक समय पर यहाँ पर शेरों की बहुलता थी, इसलिये इसे सिंहवाडा भी कहा जाता था| मध्‍य काल में इसे आरोग्‍य स्‍थल के रूप में जाना गया था |

  • छिंदवाडा (Jila Chhindwara) में मिटटी से निर्मित एक किला है जहाँ पर 1857 में विद्रोह के लिये सेना रखी गयी थी|

  • प्राचीन काल में छिंदवाडा (Jila Chhindwara) में राष्‍ट्र कूटों का शासन रहा था| जिनकी राजधानी नीलकंठ थी यहा छिंदवाडा जिले सिफना नदी के किनारे 7 वीं 8वीं शताब्दी का मंदिर था|

यह भी जरूर देखें – म. प्र. की प्रमुख पत्र पत्रिकाएं और समाचार पत्र

  • सन 1867 में छिंदवाडा में नगरपालिका का गठन हुआ था|

  • एग्रो कम्‍पलेक्‍स छिंदवाडा में है|

  • छिंदवाडा के पाताल कोट में एक गहरी खाई है जिसकी गहराई 1000 से 1700 मीटर है यहाँ पर सूरज देर से उगता है और जल्‍दी डूब जाता है| इस स्‍थान पर भारिया जनजाति निवास करती है| यह तामिया तहसील में पडता है| माना जाता है कि यहाँ से एक सुरंग पचमढ़ी के लिये जाती है इनके विकास के लिये पाताल कोट विकास प्राधिकरण बनाया गया है|

  • छिंदवाडा के कुकडी खपा में तिल्‍वेनी नामक पर्वत है जहाँ पर एक जल प्रपात भी है|

  • Chhindwara District के बिछुआ विकास खण्‍ड में शंकर वन का मेला लगता है|

  • Chhindwara District के पांडुर्ना में जाम नदी के किनारे प्रति वर्ष भाद्र शुक्‍ल पक्ष गोटमार का मेला लगता है  इस मेले में पोला पर्व के दूसरे दिन पांढुर्ना और सवरगॉव के लो एम दूसरे पर गोट से बार करते है जिसमें पत्‍थर रखा होता है यह मेला मां दुर्गा जी  के सम्‍मान में लगता है|

  • देवगढ़ का किला गौड राजाओं द्वरा निर्मित किला है यहा पर गौड राजाओं की समाधि है जिसमें मुख्यत प्रतापी राजा जाटव की समाधि है । यह किला मध्‍य युग में गौड राजाओं की समाधि रहा था इस किले में मोर्टी तालाव जाटव गौड द्वरा बनवाया गया था|

  • नगावाडी की गुफायें छिंदवाडा में स्थित है|

  • जिला छिंदवाडा से NH – 26बी, 69, 69ए  राजमार्ग गुजरते है|

  • छिंदवाडा जिले के लिहाली में कान्‍ह नदी पर एक जलप्रपात है यही पर नारायण घाट भी है ।

जरूर पढ़ें:- म.प्र. डेली | साप्ताहिक | मंथली करंट अफेयर्स डाउनलोड पीडीएफ | MP Current GK

  • हरियागड का किला धुरना गौड राजा ने बनवाया था|

  • अनहोनी में गर्म जल प्रपात है|

  • छिंदवाड़ा में सन 1954 में बादल भोई आदिवासी म्यूजियम स्थापित किया गया था|

  • देश का पहला मसाला पार्क छिंदवाडा में बनाया गया  था Chhindwara में आदिवासी कला संग्रह बनाया गया था|

  • गौड वंश की पुरानी राजधानी देवगढ में थी|

  • छिंदवाडा में मानव विकास संस्‍थान है|

Read More:म. प्र. के संभाग और जिले से सम्बंधित सामान्य ज्ञान

आप इन जिलों के बारे में भी पढ़ सकते है-

जबलपुरनरसिंहपुरछिंदवाड़ाबालाघाट
मण्डलाडिंडोरीसिवनीकटनी
इंदौरधारझाबुआअलीराजपुर
बड़वानीखरगोनखण्डवाबुरहानपुर
उज्जैनदेवासशाजापुरआगर मालवा
रतलाममंदसौरनीमचसागर
दमोहछतरपुरपन्नाटीकमगढ़
निमाड़ीग्वालियरदतियागुना
शिवपुरीअशोकनगरभोपालसीहोर
रायसेनविदिशाराजगढ़रीवा
सतनासीधीसिंगरौलीभिण्ड
मुरैनाश्योपुरबैतूलहरदा
होशंगाबादशहडोलउमरियाअनूपपुर

Latest Post

अभी शेयर करो...

Leave a Comment