District Harda जिला-हरदा Important GK Fact – MP GK in Hindi

District Harda GK Fact – MP District Wise GK Fact

जिला-हरदा Important GK

हरदा जिला नर्मदापुरम संभाग में आता है| होशंगाबाद संभाग का नाम अगस्त 2008 में बदलकर नर्मदापुरम संभाग कर दिया गया|

नर्मदापुरम संभाग के अंतर्गत 3 जिले आते है

  1. होशंगाबाद (Hoshangabad District)
  2. हरदा (Harda District)
  3. बैतूल (Betul District)

MP Harda District Important GK Fact Hindi

  • पूर्व में होशंगाबाद जिले का भाग रहा हरदा को 6 जुलाई 1998 को नये जिले के रूप में गठित किया गया था|
  • हरदा के नाम को लेकर लोकमत है कि पेडों की बहुतायत के कारण इसका नाम हरदा (harda) पडा जबकि कुछ लोग बुंदेलखण्‍ड के लोक देवता हरदोलजू के नाम पर इसे हरदा कहते है।
  • सांस्‍कृतिक रूप से यह क्षेत्र “भुआना” (उपजाऊ भूमि) कहा जाता है|
  • ऐसा माना जाता है कि हानदेह व हाथ देह, हरदा के ही पुराने नाम है हरदा को कृषि उत्‍पादता की दृष्टि से मिनी पंजाब भी कहा जाता है|
  • हरदा प्रदेश सर्वाधिक औसत कृषि जोत वाला जिले का ख़िताब भी रखता है|
  • 8 दिसम्बर 1933 को राष्‍ट्र पिता महात्‍मागांधी रेल मार्ग से हरदा पहुचे थे। 1926 में पंडित मोतीलाल नेहरू एवं पंडित मदनमोहन मालवीय ने हरदा यात्रा की थी|

यह भी जरूर देखें – म. प्र. की प्रमुख पत्र पत्रिकाएं और समाचार पत्र

  • मुगल काल में 1405 ई. एवं उसके पश्‍चात होशंगशाह गौरी के शासन में हंडिया सरकार की गददी था जो ब्रिटिशकाल में भी प्रमुख प्रशासकीय क्षेत्र रहा था|

मकडाई का किला –

  • मकडाई का किला जिला हरदा मुख्‍यालय से 30 किलोमीटर दक्षिण पूर्व में स्थित है यहाँ सड़क मार्ग के माध्‍यम से पहुँचा जा सकता है| मकडाई राज्‍य परिवार के इतिहास में इस बात का उल्‍लेख मिलता है कि सन 1630 में राजा मकरंद शाह ने पिंडारियों के हमलों से बचाब के लिये यहाँ किले का निर्माण करवाया था| इसके चारो ओर ऊँची ऊँची दीवारे बनाई गयी सुरक्षा की दृष्टि से नीचे की और देखने और बंदूकों से निशाना सादने के लिये किले की दीवार में छेद बनाये गये थे । जो आज भी विद्यमान है । उस दौर मे ज्‍यादा हथियार न होने से दीवार के पास पत्‍थरों के डेर लगा लिये जाते थे हमले के दौरान किले के अन्‍दर निवास रत सभी पुरूष हमलाबरों पर पत्थरों से वॉर करते थे इस किले के चार द्वार भवनों राजपरिवार के निवास स्‍थलों चार दीवारों बुर्जो एवं विशाल भव्‍य बाबड़ी जिसमें नदी से चार पांच चरणों में जल प्रवाह सम्‍पूर्ण किले में रही है|

जरूर पढ़ें:- म.प्र. डेली | साप्ताहिक | मंथली करंट अफेयर्स डाउनलोड पीडीएफ | MP Current GK

  • Harda District से नर्मदा, गंजाल, माचक बहने वाली प्रमुख नदियाँ है| NH – 59ए भी गुजरता है ।|
  • Harda Jile में सिध्दि विनायक मंदिर, लक्षमीनारायण मंदिर, तथा नेमावर तीर्थ नर्मदा नदी के तट आदि प्रमुख स्थल है|
  • हंडिया – यहां पर परमार कालीन प्रसिद्ध रिद्ध नाथ का मंदिर भी स्थित है यह अपनी कलात्‍मक सौंदर्य तथा वास्‍तुकला के लिये प्रसिद्ध है|


तैली सराय –

  • हंडिया क्षेत्र की तैली सराय मुगल कालीन वैभव का प्रतीक है कहा जाता है कि 16 वी सदी में इस सराय का निर्माण एक तैली श्रेष्टि द्वारा किया गया था
  • कान्हा बाबा की समाधि – हरदा जिले के ग्राम सोडलपुर में कान्हा बाबा की लगभग 600 वर्ष पुरानी जिंदा समाधि है यहाँ पर कान्हा बाबा का मेला (शोडलपुर में) आयोजित किया जाता है|

Read More:म. प्र. के संभाग और जिले से सम्बंधित सामान्य ज्ञान

आप इन जिलों के बारे में भी पढ़ सकते है-

जबलपुरनरसिंहपुरछिंदवाड़ाबालाघाट
मण्डलाडिंडोरीसिवनीकटनी
इंदौरधारझाबुआअलीराजपुर
बड़वानीखरगोनखण्डवाबुरहानपुर
उज्जैनदेवासशाजापुरआगर मालवा
रतलाममंदसौरनीमचसागर
दमोहछतरपुरपन्नाटीकमगढ़
निमाड़ीग्वालियरदतियागुना
शिवपुरीअशोकनगरभोपालसीहोर
रायसेनविदिशाराजगढ़रीवा
सतनासीधीसिंगरौलीभिण्ड
मुरैनाश्योपुरबैतूलहरदा
होशंगाबादशहडोलउमरियाअनूपपुर

Trending topics –

अभी शेयर करो...

Leave a Comment