जिला पन्ना | MP GK District Wise in Hindi | MP GK Fact

जिला पन्ना GK – म.प्र. की जिलेबार (MP GK District Wise in Hindi) सामान्य ज्ञान

जिले का नाम जिला पन्ना (District Panna)
गठन 1956
तहसील पन्ना, गुन्नौर, पवई, शाहनगर, अजयगढ़, देवेंद्र नगर, सिमरिया, रेपुरा अजयगढ़, अमानगंज
पड़ोसी जिलों के साथ सीमाकटनी, सतना, छतरपुर, दमोह और U.P. राज्य
जनसँख्या (2011)10,16,520
साक्षरता दर (2011)54.44%
भौगोलिक स्थितिअक्षांतर स्थिति – 23o50′ से 25o08′ उत्तर
देशांतर स्थिति – 79o44′ से 80o40′ पूर्व

जिला-पन्ना, सागर संभाग के अंतर्गत आता है। मध्यप्रदेश का जबलपुर, इंदौर,उज्जैन के बाद चौथा बड़ा संभाग सागर है।

सागर संभाग में 6 जिले आते है|

  1. सागर (District Sagar)
  2. दमोह (District Damoh)
  3. पन्ना (District Panna)
  4. छतरपुर (DistrictChhatarpur)
  5. टीकमगढ़ (District Teekamgarh)
  6. निमाड़ी (District Nimari)

Panna District GK Important Fact – पन्ना जिले के महत्वपूर्ण जी. के. फैक्ट

MP Districtwise GK in Hindi - District Panna

पन्ना जिले का इतिहास

पन्ना जिले को पुराणों में पद्मावती पुरीकिलकिल प्रदेश कहा गया है। पन्ना जिले का नाम पद्मावती देवी जी मंदिर के नाम पर पड़ा है। ‘हीरा नगरी’ के नाम से जाने जाना वाला पन्ना जिला म. प्र. के उत्तर पूर्व विध्यांचल पर्वत श्रृंखलाओं के मध्य स्थित है। प्रारम्भ में यह विंध्यप्रदेश का अंग था, 1 नवंबर 1956 को पन्ना जिले को रीवा संभाग के अंतर्गत मध्यप्रदेश का जिला घोषित कर दिया था लेकिन 20 अक्टूबर 1972 को इसे रीवा संभाग से अलग करके सागर संभाग में सम्मिलित कर दिया गया।


Trending Posts –


तहसील – पन्ना (MP Districtwise GK in Hindi)

पन्ना जिले में 8 तहसीलें – पन्ना, गुन्नौर, पवई, शाहनगर, अजयगढ़, देवेंद्र नगर, सिमरिया, रेपुरा, अमानगंज है।

भौगोलिक स्थिति – पन्ना जिले की भौगोलिक स्थिति

पन्ना जिले का क्षेत्रफल 7135 वर्ग किलोमीटर है। पन्ना जिला क्षेत्रफल की दृष्टि से मध्यप्रदेश का 16 वां जिला है। जिले की सीमा पूर्व में सतना, पश्चिम में छतरपुर, दक्षिण में कटनी और उत्तर में उत्तप्रदेश राज्य के साथ लगती है।

पन्ना जिला भौगोलिक दृष्टि से अक्षांतर स्थिति – 23o50′ से 25o08′ उत्तर और देशांतर स्थिति – 79o44′ से 80o40′ पूर्व में स्थित है। जिले से राष्ट्रीय राजमार्ग NH – 7, NH – 75 होकर गुजरते है।

यहाँ गर्मियों में औसत तापमान 43 डिग्री तथा सर्दियों में 4 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच जाता है। जिले में लगभग 110 मि. मी. तक बारिश होती है।

मिट्टियाँ एवं कृषि – पन्ना जिले में मिट्टियाँ एवं कृषि

पन्ना जिले में काली और जलोढ़ दोनों प्रकार की मिट्टियाँ पायी जाती है। यह सबसे अधिक उपजाऊ मिट्टी है।

कृषि – पन्ना जिले में रबी की फसल गेंहू, मसूर, तथा खरीफ की फसल धान, उड़द आदि की खेती की जाती है।

पशुपालन – पन्ना जिले में पशुपालन के लिए नंदी शाला योजना, गौसेवक प्रशिक्षण तथा पशुपालन विभाग द्वारा दुग्ध उत्पादन को बढ़ावा देने के लिए ‘गोकुल महोत्सव’ आयोजित किया जाता है। इसके आलावा देशी नस्ल की गोपाल पुरस्कार योजना के अंतर्गत दुग्ध प्रतियोगिता का आयोजन किया जाता है। पन्ना जिले में मछली पालन को भी बढ़ावा दिया जा रहा है।

पन्ना जिले की प्रमुख नदियाँ

पन्ना जिले की मुख्य नदियाँ केन और पटनी सीमादी नदी है।

केन नदी का उद्गम (कटनी) विंध्यांचल पर्वत से हुआ है। इसकी कुल लम्बाई लगभग 427 किलोमीटर, जो म. प्र. में 292 कि.मी. अंदर में बहती है। केन नदी यमुना नदी की एक सहायक नदी है। केन नदी को कर्णावती, श्वेनी और कैनास अन्य नामों से भी जाना जाता है।

सिंचाई एवं परियोजनाएं

सीतानगर मध्यम सिंचाई परियोजना – हाल ही में पन्ना जिले के सीतानगर ग्राम में सोनार नदी पर सीतानगर मध्यम सिंचाई परियोजना स्थापित की जा रही है।

केन बेतवा लिंक परियोजना – ग्रेटर गंगऊ के नाम से जाने जाने वाली केन बेतवा लिंक परियोजना मध्यप्रदेश और उत्तरप्रदेश की संयुक्त परियोजना है। इस परियोजना से छतरपुर, टीकमगढ़, निवाड़ी और पन्ना जिले लाभान्वित है।

वन एवं वन्यजीव – District Panna

पन्ना जिले में पानी की कमी के कारण पेड़ से पत्ते गिर जाते है। यहाँ के वनों में सागौन, शीशम, पीपल, नीम आदि प्रकार के वृक्ष पाए जाते है। इस प्रकार के वन 50-100 से.मी. वर्षा वालों जंगलों में होते है। वनो में बाघ, जंगली कुत्ते, लोमड़ी, लंगूर, हिरन, नीलगाय, चीतल आदि वन्यजीव पाए जाते है।

राष्ट्रीय उद्यान एवं अभ्यारण – पन्ना

पन्ना नेशनल पार्क – पन्ना राष्ट्रीय उद्यान प्रदेश के पन्ना व छतरपुर जिले में स्थित है। इसकी स्थापना 1981 में की गई थी एवं वर्ष 1994 में इसे टाइगर प्रोजेक्ट में शामिल किया गया। इसका क्षेत्रफल 542.66 वर्ग किलोमीटर है। पन्ना नेशनल पार्क में प्रदेश का एकमात्र रेप्टाइल पार्क भी स्थापित किया गया है, जिसमे घड़ियाल, मगरमच्छ आदि रहते है।

गंगऊ वन्यजीव अभ्यारण्य – इस अभ्यारण्य का क्षेत्रफल 78.53 वर्ग किलोमीटर है। गंगऊ वन्यजीव अभ्यारण्य में जंगली भैसों का संरक्षण किया जाता है।

खनिज सम्पदा एवं उद्योग – पन्ना जिले में

हीरा – देश में हीरा उत्पादन में मध्यप्रदेश का प्रथम स्थान है। म. प्र. में हीरा का उत्पादन सतना, छतरपुर जिले के अंगोरा में और पन्ना जिले के पन्ना, हनोता, मझगांव, रामखारिया में होता है। यह जिला अपनी हीरा खदानों के लिए पूरे देश में प्रसिध्द है।

उद्योग – पन्ना जिले में बांस का बहुतयात से उत्पादन होता है। यहाँ बांस उद्योग लगाए जा रहे है। पुरैना पन्ना जिले का औद्योगिक क्षेत्र है।

पन्ना जिले में जनजाति

सौर जनजाति – पन्ना जिले में म. प्र. की आर्थिक और सामाजिक रूप से अत्यंत पिछड़ी सौर जनजाति निवास करती है।

खैरवार जनजाति – पन्ना जिले में मुंडा समूह की खैरवार जनजाति भी निवास करती है।

पन्ना जिले की बोलियां एवं मेले –

पन्ना जिले क्षेत्र के अंतर्गत पश्चिमी हिंदी की प्रमुख बोली बुंदेली प्रचलित है।

प्राणनाथ का शरद समैया मेला – पन्ना के प्राणनाथ मंदिर में शरद पूर्णिमा को शरद समैया नाम से मेला आयोजित होता है। यह मेला महाराजा छत्रसाल के गुरु स्वामी प्राणनाथ की याद में लगता है।

पन्ना जिले के प्रमुख पर्यटन स्थल –

  • बलदेव मंदिर
  • प्राणनाथ मंदिर
  • जुगल किशोर जी मंदिर
  • पद्मावती देवी मंदिर
  • अजयगढ़ का किला
  • घड़ियाल अभ्यारण्य
  • पांडव जल प्रपात

जिले के प्रमुख संग्रहालय –

जिला संग्रहालय पन्ना – यह संग्रहालय 1988 में स्थापित किया था। इसमें गुप्त, चंदेल और कलचुरी की पाषाण प्रतिमाएं है।


जरूर पढ़ें:-


Panna DISTRICT के प्रमुख तथ्य –

  • पन्‍ना (Panna) नगर का प्राचीन नाम पदमावतीपुरी था।
  • पन्ना शहर में राजा दधीची और राजा पदमावत का राज्‍य था। स्‍वामी प्रेम नाथ जी के आग्रह पर छत्रशाल ने पन्‍ना को नई राजधानी घोषित किया था।
  • पन्‍ना राष्‍ट्रीय उद्यान (Panna Natioanal Park) पन्‍ना जिले  (Panna District) और छतरपुर जिले में फैला हुआ है| पन्‍ना राष्‍ट्रीय उद्यान मध्‍य प्रदेश का पांचवा टाईगर रिजर्व है।
  • केन नदी पन्‍ना राष्‍ट्रीय उद्यान (Panna Natioanal Park) से होकर गुजरती है| जिसमें केन घडियाल अभयारण स्‍थापित है| पन्‍ना राष्‍ट्रीय उद्यान में ही केन घडियाल अभ्यारण है।
  • पन्‍ना डिस्ट्रिक्ट में महामती प्राणनाथ जी का मंदिर स्थित है| पन्ना जिले में प्रगामी संप्रदाय के लोग रहते है यह प्रगामी संप्रदाय के लोगों का सबसे महत्‍वपुर्ण केंद्र है। पन्‍ना जिले में ताजमहल की आकृति का मंदिर है, जिसे प्रगामी संप्रदाय अपना तीर्थ स्‍थल मानते है तथा वे लोग पन्‍ना को परमधाम कहते है।
  • पन्‍ना जिले (Panna District) में अजयगढ़ का किला है तथा अजयगढ़ (Ajaygarh Tehseel) मध्यप्रदेश की क्षेत्रफल की दृष्टि से सबसे छोटी तहसील है।
  • पन्ना हीरा और आंवला उत्पादक जिला है।
  • गंगऊ अभ्‍यारण पन्‍ना जिले मे है। जो पन्ना टाइगर रिजर्व से लगा हुआ है।
  • बल्‍देव जी का मंदिर – लंदन स्थित पालंस कैथेड्रिल की शैली में बना मंदिर है।
  • जुगलकिशोर जी का मंदिर पन्ना जिले (Panna District) का प्रमुख हिन्दू मंदिर हैं।
  • पन्‍ना (Panna District) को भारत की डायमंड सिटी (Diamond City) कहा जाता है, जो हीरा उद्योग के लिये पसिद्ध है| पन्ना जिला उत्‍तर प्रदेश की सीमा पर है।
  • पन्ना जिले में:- मझगवा हीरा की खानों के लिये प्रसिद्ध है,पन्ना नेशनल पार्क, पाण्‍डव जलप्रपात, गाथा जलप्रपात, बृहस्पति कुण्‍ड, रात जानकी का मंदिर है।
  • पन्‍ना मे ट्री हाउस है।
  • पन्ना जिले (Panna Jila) की प्रमुख नदियां क्रेन,पटनी,सीमाधी, मधुसम है।
  • पन्ना जिले (Panna District) से राष्‍ट्रीय राजमार्ग एनएच – 75, एन एच – 7 गुजरते है।

आप इन जिलों के बारे में भी पढ़ सकते है-

मुरैनाभिण्डश्योपुरग्वालियर
दतियाशिवपुरीगुनाअशोकनगर
भोपालसीहोररायसेनविदिशा
राजगढ़उज्जैनदेवासशाजापुर
आगर मालवारतलाममंदसौरनीमच
इंदौरधारझाबुआअलीराजपुर
बड़वानीखरगोनखण्डवाबुरहानपुर
सागरदमोहछतरपुरपन्ना
टीकमगढ़निमाड़ीरीवासतना
सीधीसिंगरौलीशहडोलउमरिया
अनूपपुरजबलपुरनरसिंहपुरछिंदवाड़ा
बालाघाटमण्डलाडिंडोरीसिवनी
कटनीबैतूलहरदानर्मदापुरम

Latest Posts

अभी शेयर करो...

Leave a Comment