District Satna जिला-सतना Important GK Fact – MP GK in Hindi

जिला सतना – म.प्र. की जिलेबार सामान्य ज्ञान (MP District Wise GK in Hindi)

जिले का नाम जिला सतना (District Satna)
गठन 1956
तहसील रघुराजनगर, रामपुर बघेलान, नागोद, उचेहरा, अमरपाटन, रामनगर, मैहर, मझगवां, कोटर, बिरसिंहपुर, कोठी
पड़ोसी जिलों के साथ सीमारीवा, कटनी, पन्ना, सीधी, शहडोल, उमरिया
राज्यों के साथ सीमाउत्तरप्रदेश
जनसँख्या (2011)22,28,935
साक्षरता दर (2011)72.26%
भौगोलिक स्थितिअक्षांतर स्थिति – 23o58′ से 25o12′ उत्तर
देशांतर स्थिति – 81o21′ से 81o30′ पूर्व
MP GK Distrcit wise - Satna District
जिला सतना जनरल नॉलेज

MP Satna District Important GK Fact Hindi

जिला-सतना, रीवा संभाग में आता है। रीवा संभाग के अंतर्गत 4 जिले आते है-

  1. रीवा (District Rewa)
  2. सतना (District Satna)
  3. सीधी (District Sidhi)
  4. सिंगरौली (District Singrauli)

सतना जिले का इतिहास

सतना जिला बघेलखंड क्षेत्र के अंतर्गत आता है। जिले का इतिहास महाभारत काल से माना जाता है। इस जिले के भरहुत से बौद्ध धर्म से सम्बंधित साक्ष्य प्राप्त हुए है। वर्ष 1873 में पुरातात्विक विभाग द्वारा यहाँ भरहुत स्तूप खोजे गए। इस क्षेत्र पर रीवा के नरेशों ने भी शासन किया था।

इतिहासकारों के अनुसार बघेलखंड क्षेत्र पर हय्या, कल्चुरी, या चेदि कबीलों द्वारा शासन किया तब बघेलखंड पथ भारतीय कला और वास्तुकला में महत्वपूर्ण स्थान रखता था। गुप्त साम्राज्य के शासन तीसरी और चौथी शताब्दी ईसा पूर्व में सतना जिला कला और वास्तुकला में चरम पर था। दिल्ली सल्तनत एवं मुग़लों ने भी शासन (1707 तक) किया था।

इस क्षेत्र पर ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी ने पश्चिमी क्षेत्र के कुछ हिस्से पर शासन किया। वर्ष 1803 की बेसिन संधि के बाद ब्रिटिश सरकार ने रीवा के शासकों को गठबंधन का प्रस्ताव दिया था लेकिन रीवा ने शासकों ने इस प्रस्ताव को ठुकरा दिया। 1847 के सिपाही विद्रोह के बाद से सतना जिले क्षेत्र का नियंत्रण पूरी तरह से ब्रिटिश सरकार के हाथों में आ गया।

तहसील – सतना (MP Districtwise GK in Hindi)

सतना जिले में 11 तहसीलें रघुराजनगर, रामपुर बघेलान, नागोद, उचेहरा, अमरपाटन, रामनगर, मैहर, मझगवां, कोटर, बिरसिंहपुर, कोठी शामिल है।

यह भी जरूर देखें – म. प्र. की प्रमुख पत्र पत्रिकाएं और समाचार पत्र

भौगोलिक स्थिति – सतना जिले की भौगोलिक स्थिति

सतना जिले का क्षेत्रफल 7502 वर्ग किलोमीटर है। सतना जिला क्षेत्रफल की दृष्टि से मध्यप्रदेश का 11 वां जिला है। सतना जिला भौगोलिक दृष्टि से अक्षांतर स्थिति – 23o58′ से 25o12′ उत्तर और देशांतर स्थिति – 81o21′ से 81o30′ पूर्व पर स्थित है।

Satna Jile की सीमा मध्यप्रदेश के उत्तर में उत्तरप्रदेश राज्य, पूर्व में रीवा एवं सीधी, दक्षिण में शहडोल, उमरिया एवं कटनी और पश्चिम में पन्ना जिलों के साथ लगती है।

सतना जिले का गर्मियों में तापमान 44 डी. सेंटी. तक ऊपर एवं सर्दियों में 6 डी. सेंटी. नीचे उतर जाता है। जिले में 95 मि.मी. तक सामान्य बारिश होती है।

मिट्टियाँ एवं कृषि – सतना जिले में मिट्टियाँ एवं कृषि

सतना जिले में लाल और काली मिट्टी दोनों प्रकार की मिट्टी पाई जाती है। म. प्र. के लगभग 37% भाग पर यह मिट्टी पाई जाती है।

सतना जिले में मुख्य रूप से धान, सोयाबीन, गेहूँ, चना, प्याज आदि की खेती की जाती है।

पशुपालन और दुग्ध उत्पादन को बढ़ावा देने के लिए जिलेभर में प्रत्येक नंदीशाला योजना, गोपाल पुरस्कार योजना, गोकुल महोत्सव का आयोजन किया जाता है।

सतना जिले की प्रमुख नदियाँ

  • सतना नदी
  • सोन नदी
  • टोंस नदी
  • पासुनी नदी
  • अमरन नदी
  • बरुआ नदी

सिंचाई एवं परियोजनाएं

बरगी परियोजनासतना जिला बरगी परियोजना से लाभान्वित जिला है। बरगी परियोजना नर्मदा नदी पर बनाया गया पहला बांध है। बरगी परियोजना को रानी अवंती बाई सागर परियोजना के नाम से भी जाना जाता है।

वन एवं वन्यजीव – District Satna

सतना जिले में वनों का क्षेत्रफल 2036 वर्ग किलोमीटर है। यहाँ के वनों में सागौन, शीशम, नीम, पीपल आदि वृक्ष पाए जाते है जो पानी की कमी के कारण अपने पत्ते गिरा देते है। जिले में बाघ, जंगली कुत्ते, चीतल, लंगूर, हिरण, नीलगाय आदि वन्यजीव पाए जाते है।

राष्ट्रीय उद्यान एवं अभ्यारण – सतना

सतना जिले के सिंहपुर क्षेत्र में अभ्यारण्य बनाया जा रहा है।

Read More:म. प्र. के संभाग और जिले से सम्बंधित सामान्य ज्ञान

खनिज सम्पदा एवं उद्योग – सतना जिले में

सतना जिले में डोलोमाइट खनिज सम्पदा पाई जाती है। डोलोमाइट खनिज म. प्र. के जबलपुर, सीधी, सतना, इंदौर, ग्वालियर आदि जिलों में पाया जाता है।

सतना जिले में कई सीमेंट फैक्ट्री संचालित है। सतना जिले में वर्ष 1959 में पहला सीमेंट कारखाना और मैहर में 1980-81 में सीमेंट फैक्ट्री लगाई गयी थी।

मध्यप्रदेश सरकार ने सतना जिले के मैहर में ‘फ़ूड पार्क’ बनाने की घोषणा की है।

सतना जिले में जनजाति एवं लोकनृत्य

कोल जनजाति – सतना जिले में प्रदेश की तीसरी सबसे बड़ी कोल जनजाति निवास करती है।

लोकनृत्य – सतना जिले के चित्रकूट में पांच दिवसीय दीपदान मेले में बुंदेलखंड का दिवारी लोकनृत्य बड़ी धूमधाम से किया जाता है। दिवारी नृत्य मौनियों की टोली के द्वारा मोर पंख और लाठी के साथ किया जाता है।

सतना जिले की बोलियां एवं मेले –

बघेली बोली – सतना और उसके आसपास के क्षेत्र में बघेली भाषा बोली जाती है।

मेले –

माँ शारदा का मेला – सतना जिले में स्थित माँ शारदा शक्तिपीठ में प्रत्येक वर्ष नवरात्री पर माँ शारदा का मेला लगता है।

सतना जिले के प्रमुख पर्यटन स्थल –

  • माँ शारदा माता मंदिर, मैहर
  • शिवमंदिर, बिरसिंहपुर
  • चित्रकूट धाम
  • भरहुत स्तूप
  • व्यंकटेश मंदिर
  • कुंवरमठ
  • सरभंग ऋषि आश्रम
  • रामवन
  • अम्बिका धाम रिमारी
  • सती धाम रिमारी
  • भूतेश्वरनाथ उंचेहरा

जिले के प्रमुख संग्रहालय –

तुलसी संग्रहालय, रामवन (सतना) :

प्रमुख अकादमी –

चित्रकूट ग्रामोदय, रामवन, तुलसी संग्राहलय मैहर, अलाउद्वीन संगीत अकादमी

Satna DISTRICT के प्रमुख तथ्य –

  • उत्तरप्रदेश की सीमा पर बघेलखण्‍डी संस्‍कृति वाला जिला है।
  • नागौद एक एतिहासिक नगर है यहाँ पर शिव पार्वती का कूठना मंदिर है।
  • भरहुत में अशोक कालीन स्‍तूप है।
  • सतना जिले में सर्वाधिक सीमेंट उद्योग एवं उत्पादन
  • चित्रकूट मंदाकिनी नदी के तट पर है।
  • मुकुंदपुर में पहला व्‍हाईट टाइगर सफारी (2016) है।
  • सतना जिले में मध्यप्रदेश की दूसरी खुली जेल (2018) है।
  • शारदा माई का मंदिर मैहर सतना में है।
  • भरहुत स्‍तूप को अलेक्जेंडर कनिघंम ने खोजा था।
  • चित्रकूट में भूमहरा खोह गुप्‍तकाल से संबंधित है।
  • चित्रकूट में राम ने वनवास का समय बिताया था यहां पर जानकी कुण्‍ड और लक्षमण कुण्‍ड है।
  • सती अनुसूईया और ऋषि अत्रि का आश्रम चित्रकूट में है यहाँ पर ब्रम्हा, विष्णु, महेश ने बाल अवतार लिया था।
  • सतना जिले में कई सीमेंट और बीड़ी उद्योग है।
  •  मन्दाकिनी और गुप्‍त गोदावरी का मिलन स्‍‍थल चित्रकूट में है।
  • मैहर को संगीत नगरी कहा जाता है.
  • Satna Jile से राष्‍ट्रीय राजमार्ग NH – 7, 75 गुजरते है|

MP GK District wise –

मुरैनाभिण्डश्योपुरग्वालियर
दतियाशिवपुरीगुनाअशोकनगर
भोपालसीहोररायसेनविदिशा
राजगढ़उज्जैनदेवासशाजापुर
आगर मालवारतलाममंदसौरनीमच
इंदौरधारझाबुआअलीराजपुर
बड़वानीखरगोनखण्डवाबुरहानपुर
सागरदमोहछतरपुरपन्ना
टीकमगढ़निमाड़ीरीवासतना
सीधीसिंगरौलीशहडोलउमरिया
अनूपपुरजबलपुरनरसिंहपुरछिंदवाड़ा
बालाघाटमण्डलाडिंडोरीसिवनी
कटनीबैतूलहरदाहोशंगाबाद

Recent Posts

अभी शेयर करो...

Leave a Comment