जिला सीहोर District Sehore महत्वपूर्ण MP GK – म.प्र. जिलेबार सामान्य ज्ञान

जिला सीहोर – म.प्र. की जिलेबार (MP District Wise GK in Hindi) सामान्य ज्ञान

जिले का नाम जिला सीहोर (District Sehore)
गठन 1956
तहसील सीहोर, इछावर, आष्टा, बुधनी, नसरुल्लागंज, रेहटी, श्यामपुर, जावर
पड़ोसी जिलों के साथ सीमाराजगढ़, रायसेन, हरदा, देवास
जनसँख्या (2011)13,11,332
साक्षरता दर (2011)70.06%
भौगोलिक स्थितिअक्षांतर स्थिति – 22o32′ से 23o40′ उत्तर
देशांतर स्थिति – 76o22′ से 78o03’पूर्व

सीहोर जिला, भोपाल संभाग के अंतर्गत आता है| भोपाल संभाग का मुख्यालय राजधानी भोपाल में ही है| इस संभाग के अंतर्गत 5 जिले आते है जो निम्न है-

Jila Sehore - MP GK Hindi - MP District Wise GK

सीहोर जिले का इतिहास History of Sehore District

सीहोर जिले का पूर्व नाम सिद्ध पुर जो सीवन नदी के नाम पर पड़ा था। सीहोर के आष्‍टा से पार्वती नदी निकलती है। म.प्र. के गठन के बाद, सीहोर प्रदेश की राजधानी का क्षेत्र था। 1972 में सीहोर से अलग करके एक नया जिला भोपाल बना दिया गया और नए बने भोपाल जिले को म. प्र. की राजधानी घोषित किया। पूर्व में सीहोर अवन्ति का अभिन्न अंग था।

Sehore का क्षेत्र शैव, शाक्त, जैन, वैष्णव, बौध्द और नाथ पुरोहितों का प्रमुख ध्यान केंद्र रहा है। यह क्षेत्र मगध राजवंश, चन्द्रगुप्त प्रथम, हर्षवर्धन, अशोक महान, राजा भोज, पेशवा प्रमुखों, रानी कमलावती और भोपाल राजवंशो के अधिकार क्षेत्र में रहा। सीहोर ब्रिटिश काल में अंग्रेजी छावनी रहा था।

तहसील – सीहोर (MP Districtwise GK in Hindi)

सीहोर जिले में – सीहोर, इछावर, आष्टा, बुधनी, नसरुल्लागंज, रेहटी, श्यामपुर, जावर तहसीलें है।

यह जरूर पढ़ें: म.प्र. की प्रमुख पत्र-पत्रिकाएं एवं समाचार पत्र 

भौगोलिक स्थिति – सीहोर जिले की भौगोलिक स्थिति

सीहोर जिले का क्षेत्रफल 6578 वर्ग किलोमीटर है। यह क्षेत्रफल की दृष्टि से मध्यप्रदेश का 20 वां जिला है। सीहोर भौगोलिक दृष्टि से अक्षांतर स्थिति – 22o32′ से 23o40′ उत्तर, देशांतर स्थिति – 76o22′ से 78o03’पूर्व पर स्थित है।

सीहोर जिले की सीमा म.प्र. के 4 जिलों – राजगढ़, रायसेन, हरदा, देवास के साथ लगती है। सीहोर जिले से राष्ट्रीय राजमार्ग NH – 86, NH – 146B, NH – 752C होकर गुजरते है।

जिले का तापमान गर्मियों में 43 डिग्री सेंटीग्रेड तक ऊपर तथा सर्दियों में 4 डिग्री सेंटीग्रेड तक नीचे लुढ़क जाता है। सीहोर जिले में उत्तम जलवायु है। जिले में सामान्य से अधिक बारिश होती है।

मिट्टियाँ एवं कृषि – सीहोर जिले में मिट्टियाँ एवं कृषि

मिट्टी – सीहोर जिले में मुख्यतः काली मिट्टी पायी जाती है।

कृषि – सीहोर जिले में मुख्यतः सोयाबीन की फसल उगाई जाती है। सोयाबीन की खेती 275161 हेक्टेयर क्षेत्र पर की जाती है। सीहोर जिले के बुधनी क्षेत्र में प्रदेश में प्रसिध्द बासमती चावल की खेती की जाती है।

सीहोर जिले में शरबती गेहूं का उत्पादन बहुतायत में पैदावार की जाती है। Sehore से शरबती गेंहू का निर्यात विदेशों में होता है।

सीहोर जिले की प्रमुख नदियाँ

  • कोलार नदी
  • पार्वती नदी
  • नर्मदा नदी

कोलार नदी का उद्गम सीहोर जिले में विंध्य श्रेणी से होता है। कोलार नर्मदा नदी की एक सहायक नदी है। इसकी कुल लम्बाई 101 KM है।

जरूर पढ़ें:- म.प्र. डेली | साप्ताहिक | मंथली करंट अफेयर्स डाउनलोड पीडीएफ | MP Current GK

सिंचाई एवं परियोजनाएं

कोलार परियोजना – कोलार नदी पर बनी इस परियोजना से म. प्र. का सीहोर और भोपाल जिला लाभान्वित है। इस परियोजना से सीहोर और भोपाल जिले को लगभग 70%-70% पीने का पानी मिलता है। कोलार परियोजना से 60887 हेक्टेयर भूमि की सिंचाई हो सकती है।

वन एवं वन्यजीव – District Sehore

सीहोर जिले में उष्ण कटिबंधीय पर्णपाती वन पाए जाते है। जिले में आरक्षित वन क्षेत्र 1,72,554 हेक्टेयर है। यहाँ के वनो में सागौन, शीशम, नीम, पीपल आदि सर्वाधिक मात्रा में है।

सीहोर में वन्य जीवों में बाघ, जंगली कुत्ते, चीतल, लियोपार्ड, लोमड़ी, लंगूर, भारतीय शैल अजगर आदि पाए जाते है।

राष्ट्रीय उद्यान एवं अभ्यारण – सीहोर

रातापानी वन्यजीव अभ्यारण – यह वन्यजीव अभ्यारण प्रदेश के रायसेन जिले में है इसका कुछ भाग सीहोर जिले में आता है। इसकी स्थापना वर्ष 1976 में की गई। वर्ष 2013 में रातापानी वन्यजीव अभ्यारण को प्रोजेक्ट टाइगर के अंतर्गत शामिल किया गया।

रातापानी वन्यजीव अभ्यारण का क्षेत्रफल 825.907 वर्ग किलोमीटर है। यह बाघ के साथ अन्य वन्यजीव के लिए आकर्षण का केंद्र है।

खनिज सम्पदा एवं उद्योग – सीहोर जिले में

बैराइट्स – म. प्र. के सीहोर, देवास, धार, झाबुआ, जबलपुर, नरसिंहपुर, शिवपुरी, सीधी टीकमगढ़ जिलों में बैराइट्स निकाला जाता है।

बैराइट्स बेरियम सल्फेट है, बैरेट समूह में बैरेट, सेलेस्टीन, एग्लेसाइट और एनहाइड्राइड होता है।

मध्यप्रदेश में बैराइट्स का औसत भंडार 1.93 लाख टन है। बैराइट्स कागज विस्तारक, सफ़ेद रंग और कच्चे माल के लिए प्रयुक्त होता है।

उद्योग – सीहोर जिले के बड़ियाखेड़ी क्षेत्र में लगभग 118 हेक्टेयर भूमि पर औद्योगिक क्षेत्र बनाया जा रहा है।

सीहोर जिले में जनजाति

कोरकू जनजाति – कोरकू शब्द का अर्थ है – ‘मानवों का समूह

कोरकू जनजाति मध्यप्रदेश के सीहोर, होशंगाबाद, बैतूल, छिंदवाड़ा, सिवनी जिले तथा आसपास के क्षेत्र में निवास करती है। इस जनजाति का निवास क्षेत्र सतपुड़ा पर्वत है।

सीहोर जिले की बोलियां एवं लोकनाट्य –

बोली – सीहोर जिले में मालवी भाषा प्रचलित है। मालवी विशुद्ध रूप से इंदौर, उज्जैन, सीहोर, देवास, रतलाम और धार में बोली जाती है।

लोकनाट्य – म. प्र. के मालवा क्षेत्र में भवई लोकनाट्य मुख्यतः सीहोर, झाबुआ, धार, रतलाम, उज्जैन के आसपास के क्षेत्र में भीलों तथा कोरकू जनजाति द्वारा आयोजित किया जाता है।

सीहोर जिले के प्रमुख पर्यटन स्थल –

  • गणेश मंदिर सीहोर
  • कुंवर चैनसिंह की समाधी
  • विंध्यवासिनी माता मंदिर सलकनपुर
  • सरु मरू की गुफाएं
  • ऑल सेंट्स चर्च
  • देलवाडी रातापानी वन्यजीव अभ्यारण
  • अमलेश्वर महादेव मंदिर
  • टपकेश्वर महादेव मंदिर

Sehore DISTRICT के प्रमुख तथ्य –

  • यहाँ पर सकलनपुर का मेला लगता है।
  • सीहोर में शुगर मिल का नाम भोपाल सुगर मिल है।
  • Sehore मे कोलार परियोजना है।
  • सीहोर मे जामा मस्जिद का जीर्णोद्धार सिकंदराजहान द्वारा कराया गया .
  • गंगा आश्रम शिवना और लोतिया नदी के संगम पर है।
  • दशहरा वाला मैदान सीहोर में जहाँ पर नरसिंहगढ के राजकुमार चैन सिंह द्वारा अंग्रेजो से युद्ध किया गया था तथा यहां पर उनकी समाधी बनाई गयी है, उनको मध्‍यप्रदेश का प्रथम शहीद माना गया था।
  • देश का प्रथम आवासीय खेल विद्यालय सीहोर में है।
  • यहाँ के एकमात्र सुप्रीम कोर्ट में जज बनने वाले मोहम्‍मद हिदायतुल्‍ला थे।
  • सकलनपुर में माता पार्वती का मंदिर के रूप में शक्तिपीठ है।
  • सीहोर में कुँवर चैनसिंह की छत्री स्थित है।
  • रेलवे स्लीपर बनाने का कारखाना सीहोर जिले के बुधनी में स्थित है।

Read More:म. प्र. का सम्पूर्ण सामान्य ज्ञान | करंट GK | जी.के.क्विज आदि

आप इन जिलों के बारे में भी पढ़ सकते है-

मुरैनाभिण्डश्योपुरग्वालियर
दतियाशिवपुरीगुनाअशोकनगर
भोपालसीहोररायसेनविदिशा
राजगढ़उज्जैनदेवासशाजापुर
आगर मालवारतलाममंदसौरनीमच
इंदौरधारझाबुआअलीराजपुर
बड़वानीखरगोनखण्डवाबुरहानपुर
सागरदमोहछतरपुरपन्ना
टीकमगढ़निमाड़ीरीवासतना
सीधीसिंगरौलीशहडोलउमरिया
अनूपपुरजबलपुरनरसिंहपुरछिंदवाड़ा
बालाघाटमण्डलाडिंडोरीसिवनी
कटनीबैतूलहरदाहोशंगाबाद

Trending Posts

अभी शेयर करो...

Leave a Comment