सीधी जिला Sidhi District Important GK Fact | MP GK in Hindi

जिला सीधी – म.प्र. की जिलेबार सामान्य ज्ञान (MP District Wise GK in Hindi)

जिले का नामसीधी (District Sidhi)
गठन 1956
तहसील गोपद बनास, सिन्हावल, कुसमी, रामपुर नैकिन, मझौली, चुरहट, बहरी
सीधी जिले के साथ सीमा रीवा, सिंगरौली, शहडोल, सतना
राज्यों के साथ सीमाछत्तीसगढ़
जनसँख्या (2011)11,27,033
साक्षरता दर (2011)64.43%
भौगोलिक स्थितिअक्षांतर स्थिति – 23o49′ से 24o42′ उत्तर
देशांतर स्थिति – 81o18′ से 82o48′ पूर्व
मध्यप्रदेश जिलेबार सामान्य ज्ञान - जिला सीधी
जिला सीधी – मध्यप्रदेश सामान्य ज्ञान

MP GK Sidhi District – Madhya Pradesh General Knowledge

जिला सीधी, रीवा संभाग में आता है, जिसका मुख्यालय गोपद बनास में है। रीवा संभाग में 4 जिले आते है-

  1. रीवा (District Rewa)
  2. सतना (District Satna)
  3. सीधी (District Sidhi)
  4. सिंगरौली (District Singrauli)

सीधी जिले का इतिहास

राज्य की उत्तरी-पूर्वी सीमा बनाने वाला जिला सीधी उत्तरप्रदेश और छत्‍तीसगढ की सीमा से सटा हुआ है। सीधी जिला म. प्र. की गौरवशाली इतिहास का प्रतिबिम्ब है। जो की प्राकृतिक, सांस्कृतिक और ऐतिहासिक इतिहास का भंडार है। सीधी जिले को कोयला और चावल की भूमि कहा जाता है। सीधी जिला बीरबल की जन्मभूमि है।

सीधी जिले में कितनी तहसीलें है? –

सीधी जिला अंतर्गत 7 तहसीलें आती है –

  • गोपद बनास
  • सिन्हावल
  • कुसमी
  • रामपुर नैकिन
  • मझौली
  • चुरहट
  • बहरी

यह भी जरूर देखें – म. प्र. की प्रमुख पत्र पत्रिकाएं और समाचार पत्र

भौगोलिक स्थिति – सीधी जिले की भौगोलिक स्थिति

सीधी जिले का क्षेत्रफल 2011 की जनगणना के अनुसार 4851 वर्ग किलोमीटर है। सीधी जिला क्षेत्रफल की दृष्टि से म. प्र. में 37 वां स्थान रखता है। भौगोलिक दृष्टि से सीधी जिला अक्षांतर स्थिति – 23o49′ से 24o42′ उत्तर और देशांतर स्थिति – 81o18′ से 82o48′ पूर्व में स्थित है।

सीधी जिले की सीमा म. प्र. के उत्तर में रीवा, पूर्व में सिंगरौली, दक्षिण में छत्तीसगढ़ राज्य एवं पश्चिम में शहडोल और सतना जिले के साथ लगती है। सीधी जिले से राष्‍ट्रीय राजमार्ग NH-75 गुजरता है।

गर्मियों में सीधी जिले का टेम्प्रेचर 43 डिग्री सेंटीग्रेड तक ऊपर और सर्दियों में 6 डिग्री सेंटी. नीचे तक गिर जाता है। जिले में सामान्य बारिश 115 मि. मी. तक होती है।

मिट्टियाँ एवं कृषि – सीधी जिले में मिट्टियाँ एवं कृषि

सीधी जिला लाल और काली मिट्टी पाए जाने वाला जिला है।

कृषि – सीधी जिले में मुख्य रूप से गेहूँ और अरहर दाल की खेती की जाती है।

पशुपालन – पशुपालन और दुग्ध उत्पादन को बढ़ावा देने के लिए परामर्श के लिए ऑनलाइन योजना चलाई जा रही है। इसके अलावा प्रत्येक वर्ष गोकुल महोत्सव एवं गोपाल पुरस्कार योजना के अंतर्गत प्रतियोगिता का आयोजन किया जाता है।

Read More:म. प्र. के संभाग और जिले से सम्बंधित सामान्य ज्ञान

सीधी जिले की प्रमुख नदियाँ

सीधी जिले में मुख्य रूप से सोन, बनास नदियाँ निकलती है। बनास नदी का उद्गम सीधी जिले के नौदियां गांव से हुआ है। यह सोन नदी में जाकर मिल जाती है।

सिंचाई एवं परियोजनाएं

बाण सागर परियोजना – विंध्य प्रदेश में सोन नदी पर निर्मित बाण सागर परियोजना से मध्यप्रदेश के सीधी, रीवा, शहडोल एवं आसपास के जिले लाभान्वित है। इस परियोजना का शुभारंभ 25 दिसंबर 2006 को किया गया। इस परियोजना से 1.53 लाख हेक्टेयर भूमि सिंचित होती है

सीधी जिले में गुलाब सागर परियोजना महान नहर पर स्थित है।

वन एवं वन्यजीव – District Sidhi

सीधी जिले में उष्णकटिबंधीय अर्ध्द पर्णपाती वन क्षेत्र है जिसमें 316 वर्ग किलोमीटर घना वनक्षेत्र, 884 वर्ग किलोमीटर मध्यम घना जंगल और 732 किलोमीटर खुला वनक्षेत्र है। बाघ चिंकारा, लोमड़ी, नीलगाय, हिरन, लंगूर आदि वन्यजीव पाए जाते है।

राष्ट्रीय उद्यान एवं अभ्यारण – सीधी

संजय नेशनल पार्क – इस राष्ट्रीय उद्यान की स्थापना 1981 में की गई थी। इसका क्षेत्रफल में 466.657 वर्ग किलोमीटर है। संजय राष्ट्रीय उद्यान मध्यप्रदेश के सीधी व शहडोल जिले में स्थित है लेकिन इसका ज्यादातर भाग छत्तीसगढ़ राज्य में है।

बगदरा अभ्यारण्य

खनिज सम्पदा एवं उद्योग – सीधी जिले में

  • बेराइट्स
  • चूना पत्थर

उद्योग – सीधी जिले की अर्धव्यवस्था कृषि पर आधारित है।

जरूर पढ़ें:- म.प्र. डेली | साप्ताहिक | मंथली करंट अफेयर्स डाउनलोड पीडीएफ | MP Current GK

सीधी जिले में जनजाति एवं लोकनृत्य

पनिका जनजाति यह जनजाति मध्यप्रदेश के सीधी और शहडोल जिले में निवास करती है। पनिका या परिका जनजाति द्रविड़ प्रजाति से सम्बंधित है। इस जनजाति के लोग निर्गुण कबीर पंथी एवं शक्ति तथा अन्य देवी देवताओं के उपासक शक्ति, साकत एवं पनिका वर्ग में सम्मिलित है।

सैला लोकनृत्य इस लोकनृत्य की पैतरें (पद संचालन शैली) मुख्य विशेषता है। जो वीरता और ओज से परिपूर्ण नृत्य है।

सीधी जिले की बोलियां एवं मेले –

सीधी जिले में बघेली भाषा का प्रचलन है। यह भाषा बघेलखण्ड के सीधी, सतना रीवा एवं शहडोल जिलों में भी बोली जाती है।

चंडी देवी का मेला – सीधी जिले के घोघरा नामक जगह पर प्रत्येक बर्ष मार्च-अप्रैल के महीने में चंडी देवी का मेला लगता है। माँ चंडीदेवी को पार्वती का अवतार माना जाता है। घोघरा, सीधी जिले का प्रमुख धार्मिक और ऐतिहासिक स्थल है।

सीधी जिले के प्रमुख पर्यटन स्थल –

  • घोघरा चंडीदेवी मंदिर
  • संजय राष्ट्रीय उद्यान
  • बगदरा अभ्यारण्य
  • रामदहा कुंड
  • भुईमाड़ गुफा

Sidhi District GK Fact –

  • चुरहुट, अर्जुन सिंह का क्षेत्र है जहा पर लाटरी काण्‍ड हुआ था।
  • सोन अभ्‍यारण सीधी में भी स्थित है।
  • संजय नेशनल पार्क का कुछ भाग सीधी जिले में आता है, शेष भाग छत्तीसगढ़ मे स्थित है।
  • सीधी जिले में संजय डुबरी टाइगर रिज़र्व स्थित है।
  • शेरों की भव्यता बताने वाला पर्सिली रिजॉर्ट सीधी जिले में है।
  • डुबरी में कोयला खदान और अभ्‍यारण भी है।
  • बगदरा कोयला खदान है।
  • सोन और बनास नदी सीधी की प्रमुख नदी है।
  • सोन नदी घाटी कैमूर की श्रेणी के दक्षिण में स्थित है।
  • सीधी जिले को मिनी स्मार्ट सिटी कहा जाता है।
  • बीरबल की जन्मस्थली।
  • महान संस्कृत कवि बाण भट्टराव की जन्मस्थली है।
  • सीधी मध्‍यप्रदेश का उत्तर-पूर्वी जिला है। इसके उत्‍तर में कैमूर की श्रेणी स्थित है, जो विन्‍ध्‍य पर्वतमाला का भाग है।

मध्यप्रदेश सम्पूर्ण जिलेबार सामान्य ज्ञान

मुरैनाभिण्डश्योपुरग्वालियर
दतियाशिवपुरीगुनाअशोकनगर
भोपालसीहोररायसेनविदिशा
राजगढ़उज्जैनदेवासशाजापुर
आगर मालवारतलाममंदसौरनीमच
इंदौरधारझाबुआअलीराजपुर
बड़वानीखरगोनखण्डवाबुरहानपुर
सागरदमोहछतरपुरपन्ना
टीकमगढ़निमाड़ीरीवासतना
सीधीसिंगरौलीशहडोलउमरिया
अनूपपुरजबलपुरनरसिंहपुरछिंदवाड़ा
बालाघाटमण्डलाडिंडोरीसिवनी
कटनीबैतूलहरदाहोशंगाबाद

अभी शेयर करो...

Leave a Comment