खिलाडियों को रोजगार उपलब्ध कराने हेतु 1000 ‘खेलों इंडिया’ केंद्र खोलेगी केंद्र सरकार

केंद्र सरकार सन्यास ले चुके खिलाडियों के लिए ‘खेलो इंडिया’ कार्यक्रम के तहत 1000 केंद्र खोलेगी. केंद्रीय मंत्री किरन रिजिजू कहा कि केंद्र सरकार खेलों से सन्यास ले चुके खिलाडियों को रोजगार प्रदान कराने हेतु पूरे देशभर में 1000 ‘खेलो इंडिया’ केंद्र खोलेगी. केंद्रीय खेल मंत्री किरन रिजिजू ने यह बात Ficci के 10वें वैश्विक खेल सम्मलेन टर्फ 2020 के समय में मंगलवार को कही|

उन्होंने कहा कि हम देशभर में 1000 खेलो इंडिया लघु केंद्र खोलने जा रहे है इससे सन्यास ले चुके खिलाडियों को रोजगार हासिल करने में तथा देश में खेल संस्कृति के विकास में मदद मिलेगी| आगे कहा की जब खिलाडी परेशानी के दौर से गुजरता है तो इससे भावी पीढ़ियां हतोत्साहित होती है| सरकार यह भी सुनिश्चित कर रही है की खिलाडियों और लाभर्थियों के पास बिना किसी रूकावट के सरकार से मिलने वाली पुरस्कार राशि, वित्तीय सहायता पहुचें|

इस समारोह में ओलम्पिक रजत पदक विजेता P.V. Sindhu, म. प्र. की खेल मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया, आस्ट्रेलियाई समिति के CEO मैट कैरोल तथा Ficci के President संगीता रेड्डी ने भी भाग लिया.

खेलो इंडिया कार्यक्रम क्या है –

खेलो इंडिया कार्यक्रम की शुरुआत वर्ष 2018 में की गयी थी. इसको शुरू करने का मुख्य उद्देश्य भारत में खेल संस्कृति को बनाये रखना है. इसका आयोजन प्रत्येक वर्ष जनवरी महीने में किया जाता है. भारत के सभी स्कूल और कॉलेज के स्टूडेंट्स में खेलों के प्रति रूचि पैदा करने या बढ़ावा देने, तथा देश को महान खेल राष्ट्र बनाने के लिए खेलो इंडिया युथ गेम्स कार्यक्रम की शुरुआत की गयी| Khelo India कार्यक्रम के अंतर्गत 5 से 8 लाख रुपये तक की वित्तीय मदद प्रदान की जाती है|

और पढ़ें :- प्रमुख राष्ट्रीय पुरस्कार एवं उनके क्षेत्र

Leave a Comment

error: